Topics :

मंगलवार, जनवरी 19, 2016

Lal kitab 1952 dvd

Lal Kitab 1952 DVD awailable Now पंडित रूप चंद जोशी जी द्वारा लिखित पांच अनुपम ग्रंथ लाल किताब के फरमान 1939, लाल किताब के अरमान 1940, लाल किताब (तीसरा हिस्सा) 1941, लाल किताब तरमीमशुदा 1942, व सबसे अंत में लाल किताब 1952 उपलब्ध करवाए गया ये एक अंक अद्दभुत भेंट है | ये पांचो संस्करण आज अलग अलग पुस्तक के रूप में सभी को सुलभ हैं | लेकिन ! आज के डिजिटल युग में इनके डिजिटल संस्करण उपलब्ध नहीं है | श्री योगराज प्रभाकर जी ने सबसे पहले लाल किताब (तीसरा हिस्सा) 1941 का डिजिटल रूप आम जनमानस का अपने ज़ाती प्रयासों से सन 2007 में उपलब्ध करवा दिया था | काफ़ी देर से मेरे मन में भी ये विचार आते रहे हैं कि काश सभी वर्ज़न डिजिटल रूप में उपलब्ध होते | मेंरे मन में दबी इच्छा ने फिर से इन संस्करणों के डिजिटल प्रारूप को जनमानस को उपलब्ध करवाने की इच्छा ने करवट ली | मैं श्री योगराज प्रभाकर जी से पहले ही प्रभावित था | इन सब से प्रभावित हो कर ही मैंने लाल किताब 1952 को डिजिटल रूप देने का संकल्प लिया व इस काम को अकेले ही शुरू कर दिया | इस वर्जन को 18-01-2016 को सब के लिए उपलब्ध करवाने का जो वादा आप सब से किया गया था आज उसी संकल्प को पूरे होने पर आज 18-01-2016 को सब के लिए परम पूजनीय पंडित रूप चंद जोशी जी के जन्म दिन पर लाल किताब 1952 का डिजिटल संस्करण एक DVD के रूप में सब के लिए उपलब्ध करवाया जा रहा है | इस कार्य को पूर्ण करने के लिए श्री मिल्ख राज बाघला जी, श्री अश्वनी आनंद जी, श्री दलजीत नजूमी जी, श्री जगजीत भोला जी, श्री संदीप वर्मा जी, श्री कुलबीर बैंस जी, डाक्टर हरप्रीत सभ्रवालजी, श्री रबिंदर भंडारी जी ने उत्साह पूर्ण हौसला आफजाई की, मैं उनका दिल से शुक्रगुजार हूँ | इसी के साथ ही लाल किताब के अरमान 1940 का डिजिटल वर्ज़न जो कि सामुद्रिक की लाल किताब के फरमान 1939 के साथ मिक्स करके लिखा गया है, भी उपलब्ध है लाल किताब 1952 का डिजिटल वर्ज़न shopclues.com पर आनलाइन उपलब्ध है इस डिजिटल वर्ज़न की कुछ झलकियाँ पेश हैं
लाल किताब 1952 को पाने के लिए क्लिक करें

http://www.shopclues.com/lal-kitab-1952-astrology-2.html

This DVD is also awailable on shopo.in. Link is given below.

लाल किताब 1952 को पाने का दूसरा लिंक

this dvd how to work click on that link which is given below and view on youtube

View on Youtube

https://www.youtube.com/watch?v=6ocx3tkUx4IIIO

Lal Kitab 1952, how to work in this DVD

YouTube Demo








"टिप्स हिन्दी में ब्लॉग" की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त पाएं ! Save as PDF

बुधवार, जनवरी 06, 2016

Lal Kitab 1952 CD Video





"टिप्स हिन्दी में ब्लॉग" की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त पाएं ! Save as PDF

शनिवार, नवंबर 21, 2015

Get Lal Kitab 1952 Digital Version

लाल किताब 1952 का डिजिटल वर्ज़न 18 जनवरी 2016 को लाल किताब 1952 कुल पेज 1173 का संपूर्ण डिजिटल वर्जन उम्दा गेटअप में सबके लिए एक CD के रूप में शुद्ध रूप में उपलब्ध करवाया जा रहा । इस वर्जन के साथ लाल किताब के फरमान 1940 जो 1939 को साथ में मिक्स करके लिखी जा रही है, वो भी फ्री में उपलब्ध होगी। ये ऑफर सिमित है । ये आफर पहले 500 ग्राहकों के लिए ही उपलब्ध होगी | इसलिए पहले आएं पहले पाएं जिसको चाहिए हो वो अपनी प्रति बुक कर सकता है । ये दोनों वर्जन फ्री में उपलब्ध नहीं होंगे | इसलिए इच्छुक अपने पुरे पते, मोबाइल नंबर व पेमेंट एडवांस में करके बुक कर सकते हैं

अधिक जानकारी के लिए आप मोबाइल नंबर 8198897655 पर काल कर सकते हैं
1000/-deposited in that account which is given below

A/c No. 50100021493957 HDFC
IFSC code- HDFC0001423

After received payment I have send u ur booking ID

If u hv want this then reply

Regard
Vaneet Nagpal
मोबाइल नंबर-8198897655 Jalalabad

"टिप्स हिन्दी में ब्लॉग" की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त पाएं ! Save as PDF

मंगलवार, मार्च 17, 2015

lal kitab 1952 Vol-1

पंडित रूप चंद जोशी जी कृत लाल किताब 1952 का (व्याकरण हिस्सा फरमान नंबर 1 से 15) पहला भाग का डिजिटल संस्करण सभी लाल किताब से प्रेम करने वालों के लिए निशुल्क उपलब्ध करवाया जा रहा है व सभी से गुज़ारिश है कि जो लाल किताब से प्रेम करते हैं वह इस पहले भाग का वयवसाईं कारण नहीं करेंगे | जिसे भी ये संस्करण चाहिए होगा वो या तो इस लिंक से डाउनलोड कर सकता है या जो भी लाल किताब से प्रेम करने वाला इस संकरण को अपने पासे रखता है यदि कोई इसे मांगता है तो वो भी इसे निशुल्क दूसरे शख्स को उपलब्ध करवाएगा | इस संस्करण को निशुल्क उपलब्ध करवाना ही पंडित रूप चंद जोशी जी प्रति सच्ची श्रद्धान्जली होगी | इसी उम्मीद के साथ कि ये सभी के लिए शुभ हो |

लाल किताब 1952 Vol-1 (व्याकरण हिस्सा, फरमान नंबर 1 से 15) Download Link

Another Download Link From Facebook
"टिप्स हिन्दी में ब्लॉग" की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त पाएं ! Save as PDF

सोमवार, अक्तूबर 06, 2014

lal kitab 1952 page 61

गुरु जहाँ दो मंदिर (१) कच्चा(८)
पाप (राहू-केतु) बैठक खुद साथी हो

मारक घर से गुरु भी डरता
आठ दृष्टि खाली जो

ग्रह मुश्तरका (मिले-जुले) बुरा नहीं करते
बंद मुठ्ठी (3) के खानों में

फल 2-11 अपनों अपने
धर्म(२) मंदिर गुरुद्वारा ( नंबर 11) में

ज्ञान समुंदर घर 9 वें का
या फल उम्र हो पहली का

सफेद झंडा कोहसार पे झूले
उम्र बुढ़ापा घर 2 का

पाप की बैठक घर 2 गुरु के
गृहस्ती शुक्र भी बनता जो

लेख जगत का मस्तक गिनते
मौत जन्म जहाँ मिलता तो

इस घर में मंगल(१) बद के नकली ग्रह 5 और पापी(२) ग्रह 6 खुद टेवे वाले पर मन्दा प्रभाव न देंगे बल्कि इस घर में बैठा राहु भी बृहस्पत के मातहत होगा। सब ग्रह अपना तमाम फल जो उनमें से हर एक का खाना नं० 9 में लिखा हुआ है टेवे (जातक) वाले की उम्र के आखिरी हिस्से में देंगे। जैसे खाना नं० 9 में शनि का फल 60 साल लिखा है जो टेवे वाले की उम्र शुरु की तरफ से गिनकर 60 साल बुढ़ापे की तरफ होगा। लेकिन जब शनि खाना नं० 2 में हो तो शनि का वही असर मौत के दिन की तरफ से पीछे जन्म दिन की तरफ को गिनकर 60 साल होगा। इसी तरह ही सब ग्रह प्रभाव देंगे।

2. इस घर के ग्रह आखिरी उम्र बुढ़ापे में हमेशा नेक फल देंगे, खवाह (चाहे) किसी दूसरे उसूलों की गिनती या चाल वगैरह से कितने ही मंदे क्यों न हो।

(1. मंगल बद (सूर्य, शनि)

2. पापी ग्रह (राहु, केतु, शनि)

3. खाना नं० 1, 7, 4, 10

लाल किताब पन्ना नंबर 61



"टिप्स हिन्दी में ब्लॉग" की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त पाएं ! Save as PDF