Topics :

मंगलवार, जुलाई 29, 2014

Home » » asli lal kitab hindi mein : Prarambh page-8

asli lal kitab hindi mein : Prarambh page-8

असली "लाल किताब के फरमान 1952" हिंदी में प्रारम्भ पेज़-8

फरमान नं: 1

कुदरत से किस्मत किस तरह आई

1. हुक्म विधाता जन्म मिले तो लेख ज्योतिष बतलाता है
लाल किताब बच्चा ग्रह चाली, किस्मत साथ ले आता है
2. इस बच्चे की नन्हीं मुठ्ठी में, पकड़ा देव आकाश का है
भरा खज़ाना जिस के अंदर, निधि सिद्धि की माला है
3. नौ निधि को ग्रह नौमाना सिद्धि बारह राशि है
नौ में जरब जब बारह देते होती माला पूरी है


जब बच्चा पैदा होता है बंद मुठ्ठी लाता है जिसे वह अमूमन बन्द ही रखता है और आसानी से किसी दूसरे को आपने हाथ की हथेली नहीं देखने देता गोया बचपन में वह अपनी कुदरती भेद और छोटी सी मुठ्ठी खज़ाना किसी दूसरे को दिखाना नहीं चाहता कि बन्द मुठ्ठी में क्या है ?

1. ग्रह चाली बच्चा आसमान और पाताल से घिरे हुए आकाश में दोनों जहाँ और दोनों अस्था (जन्म मरण) की हवा को गांठ लगा देने वाली चीज़ बच्चा ग्रह चाली कहलाई

2. ग्रह चाली माला 9 X 12=108 मनकों की माला और मुकम्मल इन्सान के नाम के पहले 108 का हिस्सा ग्रह चाली माना गया है
लाल किताब पन्ना नंबर 12

"टिप्स हिन्दी में ब्लॉग" की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त पाएं ! Save as PDF

Share this post :

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

आपकी टिप्पणी मेरे लिए मेरे लिए "अमोल" होंगी | आपके नकारत्मक व सकारत्मक विचारों का स्वागत किया जायेगा | अभद्र व बिना नाम वाली टिप्पणी को प्रकाशित नहीं किया जायेगा | इसके साथ ही किसी भी पोस्ट को बहस का विषय न बनाएं | बहस के लिए प्राप्त टिप्पणियाँ हटा दी जाएँगी |