Topics :

बुधवार, दिसंबर 14, 2011

Home » » एक आसान से चित्र से समझें एडिट मोड व कंपोज मोड के अंतर को

एक आसान से चित्र से समझें एडिट मोड व कंपोज मोड के अंतर को

प्राय: नए ब्लॉगर के लिए पोस्ट एडिटर का एडिट मोड नया सा अनुभव होता है | जब भी किसी नए ब्लॉगर को किसी भी कोड का प्रयोग करने के लिए ये कहा जाता है कि आप इस कोड को प्रयोग एडिट मोड में करें तो उनके मन में ये दुविधा पैदा हो जाती है कि हम जहाँ पर पोस्ट लिखते है वहाँ पर इस प्रकार का कोड पेस्ट करने से कुछ भी अंतर दिखाई नहीं दे रहा या उन का कहना होता है कि हम इस कोड कर प्रयोग नहीं कर पा रहे | विस्तार से बताने का कष्ट करें | यदि तो आप सामान्य पोस्ट लिखते हैं तो इस प्रकार से लिखने को सामान्य ढंग कहा जाता है | इस ढंग से जैसे आप माइकरोसाफ्ट वर्ड या पेज मेकर में टाइप करते हैं वैसे ही कंपोज मोड में अपनी पोस्ट टाइप करते हैं | लेकिन ! यदि आप किसी अन्य के ब्लॉग पर पढ़ कर अपनी पोस्ट के साथ किसी भी कोड का प्रयोग करना चाहते हैं तो इसका मतलब ये होता है आपको अपनी पोस्ट के साथ किसी भी कोड का प्रयोग करना है तो आप अपनी पोस्ट को "EDTI HTML" मोड में लिखेंगे | जैसे कि किसी भी टैक्नीक पर ब्लॉग लिखने वाले ब्लॉगर अपनी पोस्ट कंपोज मोड में न लिख कर Edit HTML मोड में लिखते हैं | इसी अंतर को समझाने के लिए एक चित्र नीचे प्रस्तुत किया जा रहा है | इस चित्र को देखने के बाद भी यदि किसी के मन में किसी भी प्रकार का प्रशन उभरता है तो वो यहाँ पर टिप्पणी के रूप में अपना प्रश्न पूछ सकता हैं | इसी पोस्ट पर उनके प्रश्न का उत्तर पेश किया जायेगा |

क्या आपको ये आई-मैजिक अंदाज़ पसंद आया ? यदि हां !!! तो अपने विचारों से अवगत कराएं |


"टिप्स हिन्दी में ब्लॉग" की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त पाएं !!!!!!!!!!

Share this post :

4 टिप्‍पणियां:

Vaneet Nagpal
  1. नागपाल जी,...
    आपने बहुत सुंदर जानकारी दी,...बेहतरीन पोस्ट

    मेरी नई पोस्ट की चंद लाइनें पेश है....

    जहर इन्हीं का बोया है, प्रेम-भाव परिपाटी में
    घोल दिया बारूद इन्होने, हँसते गाते माटी में,
    मस्ती में बौराये नेता, चमचे लगे दलाली में
    रख छूरी जनता के,अफसर मस्ती के लाली में,

    पूरी रचना पढ़ने के लिए काव्यान्जलि मे click करे

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपकी पोस्ट आज के चर्चा मंच पर प्रस्तुत की गई है
    कृपया पधारें
    चर्चा मंच-729:चर्चाकार-दिलबाग विर्क

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणी मेरे लिए मेरे लिए "अमोल" होंगी | आपके नकारत्मक व सकारत्मक विचारों का स्वागत किया जायेगा | अभद्र व बिना नाम वाली टिप्पणी को प्रकाशित नहीं किया जायेगा | इसके साथ ही किसी भी पोस्ट को बहस का विषय न बनाएं | बहस के लिए प्राप्त टिप्पणियाँ हटा दी जाएँगी |